• कच्चा – पक्का

    बरसों बाद जब मिश्रा जी के घर पोता पैदा हुआ तो उन्होने पूरे मुहल्ले के लिये एक शानदार दावत का आयोजन कर डाला। गली मुहल्ले के बाकी सभी लोगो के साथ वीरू भी दावत का लुत्फ लेने वहां पहुंच गया। पार्टी में वीरू को एक के बाद एक तेजी से पैग चढ़ाते देख उसके खास

    Read more »
  • मन की भावना

    एक बार दो दोस्त मंन्दिर में गये और दोनो ने भगवान से एक-एक वरदान मांगा। पहले दोस्त ने कहा कि भगवान मुझे दुनियॉ का सबसे खूबसूरत इंन्सान बना दो। दूसरे दोस्त ने देखा कि उसका दोस्त तो सच में बहुत ही सुन्दर बन गया है, उसने भगवान से अपने लिये वरदान मांगा कि मेरे इस

    Read more »
  • नजरिया

    एक बार दो कुत्ते बैठे आपस में बात कर रहे थे। पहले कुत्ते ने कहा कि मुझे लगता है कि हमारे मालिक हमारे लिए भगवान का दूसरा रूप है। दूसरे कुत्ते ने हैरान होते हुए कहा, आज तू कैसी बहकी-बहकी बातें कर रहा है? यह अचानक तुझे ऐसा क्यों लगने लगा? पहले वाले ने बड़ी

    Read more »
  • भगवान भरोसे

    एक रेल यात्री ने दिल्ली पहुंचते ही स्टेशन मास्टर से शिकायत की आपकी सभी गाड़ीयॉ न तो समय पर चलती है और न ही कभी समय पर पहुंचती है। फिर भी आप बार-बार यह समय सारिणी क्यूं बनाते रहते है? रेलवे अधिकारी ने बड़े ही प्यार से उसे समझाते हुऐ कहा कि अगर हमारे पास

    Read more »
  • पहला कदम

    वकील साहब के बेटे ने शाम को कहचरी से आकर अपने पिता के पांव छू कर उन्हें खुशी-खुशी बताया कि आपके आर्शीवाद से आज में पहले ही दिन आपके द्वारा दिया हुआ मुकदमा जीत गया हूं। वकील साहब ने खुश होने की बजाए बेटे को गुस्सा करते हुए कहा कि मैं तो तुम्हारी ड्रिगियां और

    Read more »
  • नया घर

    नौकर ने आकर शमशेर सिंह को बताया कि आपसे कोई मिलने आया है। शमशेर सिंह ने दरवाजे की ओर देखा तो उनके दफ़्तर का एक साथी मिठाई का डिब्बा और निमत्रंण पत्र हाथ में लिये खड़ा था। अपने मित्र से बातचीत करते हुए मालूम हुआ कि उसने अपना नया घर बनाया है और उसी के

    Read more »
  • अनुभव

    एक बार एक पत्रकार ने अखबार में अपनी एक सर्वेक्षण रिर्पोट में छाप दिया कि 50 प्रतिशत औरते बेवकूफ होती है। यह रिर्पोट छपते ही इलाके की सभी औरतो ने जबर्दस्त विरोध करना षुरू कर दिया। पत्रकार घबरा कर अपने संपादक के पास गया और उन्हें सारा किस्सा बताया। संपादक ने कहा इसमें इतना परेशान

    Read more »
  • ताल से ताल मिला

    रागनी की आंटी जब उसका हालचाल पूछने अस्पताल पहुंची तो उसकी मम्मी उन्हें देखते ही फ़फ्क कर रो पड़ी। रोते-रोते ही उन्होने बताया कि एक महीना पहले स्कूल में खेलते हुए अचानक इसके सिर में चोट आ गई थी। उसके बाद आजतक मेरी बेटी ने आंख खोल कर नही देखा। अब तो धीरे-धीरे डॉक्टर भी

    Read more »
  • मैं ना भूंलूगा

    त्रिलोकी नाथ जी को सुबह से ही दांत में बहुत तेज़ दर्द था। जब यह असहनीय हो गया तो उन्हें मजबूरन डॉक्टर के पास जाना पड़ा। डॉक्टर के सामने वाली कुर्सी पर बैठते ही इन्होने पूछा कि क्या मेरा काम 15-20 मिनट में हो जायेगा। अगर देर लगनी हो तो मैं फिर कल आ जाऊगा।

    Read more »
  • प्रभाव

    अमन अर्पण बचपन से ही दोनों अच्छे दोस्त थे। भगवान की ऐसी कृपा हुई कि पढ़ाई पूरी करने के साथ ही दोनों को एक ही कालेज़ में टीचर की नौकरी मिल गई। इन दोनों की आदतों में सिर्फ एक ही फर्क था कि अमन एक और जहां आस्तिक था वही अर्पण नास्तिक स्वभाव का था।

    Read more »
  • पक्की धुन

    दरवाजें पर घंटी बजते ही सुधा की मां उस और दौड़ी। सामने सुधा को देखते ही बोली कि तेरी छुट्टिया तो अभी अगले महीने परीक्षा के बाद होने वाली थी। तू अचानक होस्टल से वापिस कैसे आ गई? सुधा ने बिना कोई बात छिपायें अपनी मां को सच-सच बताया कि पिछले कुछ समय से मेरा

    Read more »

Back to Top